Live Tv

Tuesday ,19 Mar 2019

आखिर किस लैंड डील में घिरी हैं प्रियंका गांधी

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Mar 13-2019 04:16:24pm
knews, news, khabar, taaza khabar, kanpur news, latest news, breaking news, hindi news, लोकसभा चुनाव 2019, प्रियंका गांधी, स्मृति ईरानी, राहुल गांधी, घोटाला, रॉबर्ट वाड्रा, डील, कांग्रेस, प्रेस कॉन्फ्रेंस, 5 एकड़ जमीन, दस्तावेज, कंपनी, डायरेक्टर, फरीदाबाद, बीजेपी, आरोप, महासचिव, हरियाणा, हल्ला बोल

लोकसभा चुनाव की जंग का बिगुल बजते ही राजनीतिक पार्टियों में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है। मंगलवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने पहले चुनावी भाषण में भाजपा को घेरा तो वहीं बुधवार को बीजेपी ने कांग्रेस पर हल्ला बोल दिया। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक जमीन घोटाले की बात रखी और आरोप लगाया कि इस डील में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा और जीजा रॉबर्ट वाड्रा शामिल हैं। 

आपको बता दें कि जिस डील की बात स्मृति ईरानी कर रही हैं वह कई साल पुरानी है। जिसको लेकर भाजपा प्रियंका गांधी को घेर रही है। BJP की ओर से कुछ दस्तावेज भी जारी किए गए हैं। इन दस्तावेजों के अनुसार कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हरियाणा के फरीदाबाद में ५ एकड़ जमीन खरीदी। ये जमीन अमीपुर गांव के हरबन लाल पाहवा से १५ लाख रुपए में खरीदी गई। 

दोहरे हत्याकांड में एकदम सटीक बैठी पुलिस के शक की सुई, पति ही निकला हत्यारा.... (आगे पढ़े)

लेकिन कुछ ही समय बाद इस जमीन को उन्होंने दोबारा हरबन लाल पाहवा को ८० लाख रुपये में बेच दिया। जमीन अप्रैल, २००६ में खरीदी गई थी और जून, २००९ में बेची गई थी। जारी दस्तावेज के अनुसार इसी तरह से रॉबर्ट वाड्रा ने भी तीन जमीन खरीदी थीं और बाद में इन्हें बेच दिया था। 

रॉबर्ट वाड्रा ने कुल ४१ एकड़ जमीन करीब १.१६ करोड़ रुपये में खरीदी और बाद में उन्हें तीन टुकड़ों में करीब ३ करोड़ रुपये में बेच दिया। जिन हरबंस लाल पाहवा से जमीन खरीदी गई थी, वह बाद में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी में डायरेक्टर पद पर भी रहें। 

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि ना सिर्फ रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका गांधी बल्कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी महेश कुमार नागर के जरिए यह जमीन खरीदी थी।भाजपा की तरफ से जारी दस्तावेजों में जमीन के दाम भी बताए गए हैं। इस मामले में एक कमेटी जांच भी कर रही है, जिसकी अगुवाई रिटायर्ड जस्टिस ढींगरा कर रहे हैं।