Live Tv

Tuesday ,19 Feb 2019

राष्ट्रपति के बजट अभिभाषण में मोदी ने विपक्ष पर किया तीखा वार

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Feb 08-2019 11:08:39am
राष्ट्रपति , न्यूज , मोदी , विपक्ष , राहुल गाँधी , प्रधानमंत्री , सरकार , भाषण ,latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar

लोकसभा चुनाव एक रणभूमि की तरह बन गया है जहाँ सभी पार्टी के लोग चुनावी युद्ध की तैयारीयां  कर रहे हैं  गुरुवार को कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला, जिसका जवाब प्रधानमंत्री ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद के दौरान किया. लोकसभा में दिए गए 100 मिनट के भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 चुनाव की सियासी लकीर खींच दी है. मोदी ने अपने भाषण में विपक्ष के महागठबंधन को महामिलावट करार दिया और कांग्रेस पर हमला करते हुए 55 साल बनाम 55 महीने की तुलना कर डाली.

ED के सामने पेश हुए वाड्रा, सीक्रेट ईमेल पर घिरे .... (आगे पढ़े)

चुन-चुन कर किया वार 

भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी जी ने सरकार के कार्यक्रम को गिनाते हुए की, लेकिन बाद में जैसे ही उन्होंने रफ्तार पकड़ी तो विपक्ष को तीतर-बीतर कर दिया. मोदी ने भ्रष्टाचार, राफेल, सेना, गरीबी, रोजगार समेत हर मुद्दे पर जवाब दिया. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे को भी शेरो-शायरी और कविताओं के साथ जवाब दिया.

लोकसभा में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना 

1 - कांग्रेस ने किसानों को बर्बाद किया

2- कांग्रेस ने सेना को मुश्किल में डाला

3- कांग्रेस ने बैंकों को बर्बाद कर दिया

4- कांग्रेस ने देश को बर्बाद कर दिया

5- कांग्रेस ने रोजगार नहीं मिलने दिया

सपा-बसपा पर तीखा वार 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण के दौरान आक्रामक मूड में थे, ऐसे में उन्होंने विपक्ष के बन रहे महागठबंधन पर तीखा वार किया. उन्होंने इसे महामिलावट घोषित कर डाला. मोदी ने कहा कि देश ने 30 साल तक मिलावट वाली सरकारें देखीं हैं, लेकिन अब जो महामिलावट वाले हैं वो इस तरफ (सत्ता पक्ष) नहीं आने वाले हैं. उन्होंने कहा कि आप लोग कोलकाता में मिल लेंगे, लेकिन केरल या यूपी से ही आपको निकाल दिया गया.

 मोदी के भाषण का एक-एक शब्द 2019 लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए दिया गया. उन्होंने यहां से पूरे देश को सन्देश  देना चाहा, इसलिए अपने भाषण में उन्होंने सरकार के काम और विपक्ष के भ्रष्टाचार को खुले तौर पर उजागर किया.