Live Tv

Tuesday ,19 Feb 2019

तिब्बती समुदाय ने मनाया नए साल का जश्न

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Feb 07-2019 01:03:15pm
 knews, news, khabar, taaza khabar, kanpur news, latest news, breaking news, hindi news, तिब्बती समुदाय, नैनीताल, उत्तराखण्डं, लोसर, नए साल का जश्न, झंडे, मंत्र, पूजा, दलाई लामा,  हरियाली, अग्नि, शान्ति, जल, ज़मीन

तिब्बती समुदाय विश्वभर में अपने नये साल यानी लोसर का जश्न मना रहा है। नैनीताल में भी तिब्बती समुदाय ने सुख निवास स्थिति बौद्ध मठ में लोसर का जश्न मनाया। इस दौरान समुदाय के लोगों ने मठ में पूजा अर्चना की। तीन दिन तक चले लोसर के जश्न में लोगों ने एक दूसरे को नये वर्ष की शुभकामनाएं दी। 

यूपी में शुरू हुई 10वीं और 12वीं की परीक्षा, निरीक्षण के लिए एग्जाम सेंटर पहुंचे डिप्टी सीएम ... (आगे पढ़े)

तिब्बती समुदाय ने पूजा अर्चना कर विश्व शांति और दलाई लामा की दीर्घायु की कामना की। लोसर के मौके पर तिब्बती समुदाय की महिलाओं और पुरूषों ने पारंपरिक परिधानों में मंगल गीत गाये। नैनीताल में लोसर का जश्न तीन दिनों तक चला और आज मठ में अंतिम दिन पूजा अर्चना की गई। आपको बता दें कि आज ही के दिन तिब्बती समुदाय द्वारा रंग-बिरंगे झंडे लगाए जाते हैं जो 5 रंग के होते है। हरा जो हरियाली का लाल अग्नि का, सफेद शांति का, नीला जल का और पीला जमीन का प्रतीक होते हैं  इन झंडों में मंत्र लिखे होते हैं और माना जाता है की हवा के बहाव से जितनी बार यह  झंडे  हवा में लहराते हैं उतनी ही ज्यादा विश्व में शांति आएगी, लोसल यानी तिब्बती समुदाय का नव वर्ष। लोसल को 3 दिन तक मनाया जाता है पहले दिन तिब्बती समुदाय के लोग मठों में जाकर पूजा अर्चना करते हैं और इस पर्व को अपने परिवार वालों के साथ घर में बनाते हैं दूसरे दिन नाते रिश्तेदारों एवं पड़ोसियों के घर जाकर नए वर्ष की बधाई दी जाती है। और तीसरे दिन गोमफा यानी मठो में आकर सभी तिब्बती समुदाय के लोग सामूहिक रुप से पूजा अर्चना करते हैं विश्व शांति की कामना करते है।