Live Tv

Tuesday ,19 Feb 2019

जिस मृतक का पंचनामा भर कराया पोस्टमार्टम, वह अखबार लेकर थाने पहुंचा

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Feb 04-2019 01:36:07pm
 knews, news, khabar, taaza khabar, kanpur news, latest news, breaking news, hindi news, मौत, पंचनामा, पोस्टमार्टम, उत्तराखंड, किच्छा, मंदिर, झोंपड़ी, आधार कार्ड, खबर, जांच, मामला, अखबार, आग, fire, पूछताछ

किच्छा कोतवाली में उस वक्त सब हैरान हो गए जब एक साधू अपनी ही मौत की खबर लेकर खुद थाने पहुंचा। उसके हाथ में कुछ अखबार भी थे। मामले में पुलिस ने साधू के नाम का पंचनामा भर पोस्टमार्ट भी करा दिया। लेकिन साधू के जिंदा होने पर कोतवाली में हड़कंप मचा गया। अब पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि आखिर झौपड़ी में मरने वाला शख्स कौन था।  

अवैध कब्ज़े हटाओ, प्रशासन सख्त.... "सूबा बोलेगा" .... (आगे पढ़े)

किच्छा कोतवाली क्षेत्र के कलकत्ता फार्म में एक मंदिर के पास बनी एक झौपड़ी में 31 जनवरी की रात को आग लग गई थी, जिसमें एक व्यक्ति ज़िंदा जल गया। पुलिस ने आस-पास पूछताछ की तो लोगों ने बताया कि यहां बाबा उमाशंकर रहता था। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम भी उमाशंकर के नाम से करा दिया। उमाशंकर की मौत की खबरें भी अखबारों में छप गई। सोमवार को सुबह जब बाबा उमाशंकर ने अपनी मौत की खबर पढ़ी तो दंग बाबा के पैरों तले जमीन खिसक गई। वह अखबार को लेकर कोतवाली पहुंच गए ओर अपनी मौत की खबर को झूठा बताया। बाबा का कहना है कि वो अपना आधार कार्ड बनवाने के सिलसिले में बाहर गये थे। 31 जनवरी की रात हुए अग्निकांड में कौन शख्स जिंदा जला है वह नहीं जानते। लेकिन अखबारों में जिस साधू के जल कर मौत की खबर लगी है वह मैं हूँ। उसे मृत कैसे दर्शाया गया है। अब सवाल यह उठता है कि यदि उमाशंकर ज़िंदा है तो झौपड़ी में आग लगने से मरने वाला कौन था? पुलिस के लिए यह पता लगाना किसी चुनौती से कम नहीं है। हालांकि एएसपी देवेंद्र पींचा ने बताया कि मृतक के डीएनए से उसकी पहचान कराने की कोशिश की जाएगी साथ ही मामले की जांच भी शुरू कर दी है।