Live Tv

Thursday ,21 Mar 2019

सिडनी में छाए पंत-पुजारा, 622 रन पर पारी घोषित

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Jan 04-2019 10:52:17am

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में चले रही टेस्ट सीरीज के आखिरी टेस्ट के दूसरे दिन तक टीम इंडिया ने अपनी स्थिति बहुत मजबूत कर ली है। टीम इंडिया ने दुसरे दिन ७ विकेट के नुकसान पर ६२२ रन बनाकर पारी घोषित कर दी। इस बड़े स्कोर में सबसे बड़ा योगदान चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत का था। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। 

पुजारा ने भारत को ड्राइविंग सीट पर बैठा दिया। पहले पुजारा ने मयंक के साथ दूसरे विकेट के लिए ११६ रन जोड़े, फिर कप्तान विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए ५४ रनों की साझेदारी की। यह पहला मौका है जब पुजारा ने किसी सीरीज में तीन शतक जड़े हैं और इसी के साथ चेतेश्वर पुजारा मौजूदा सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।उन्होंने चार टेस्ट की ७ पारियों में ७४.४२ की औसत से ५२१ रन बनाए हैं। उनके अलावा कोई भी खिलाड़ी इस सीरीज में ३०० रन का आंकड़ा भी नहीं छू सका है। पुजारा ने अपनी इस पारी के दौरान किसी सीरीज में सर्वाधिक गेंद खेलने के लिहाज से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। 

IND-AUS के खिलाड़ियों ने पिंक टेस्ट में बांधी काली पट्टी.... (आगे पढ़े)

वहीं दूसरी और २१ साल के ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट शतक लगाने वाले भारत के पहले विकेटकीपर बन गए हैं। उन्होंने सिडनी में खेले जा रहे चौथे टेस्ट में शतकीय पारी खेली। उनकी इस पारी की बदौलत भारत ६२२ जैसा बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब रहा। ऋषभ पंत ने बतौर विकेटकीपर व बल्लेबाज, कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। उन्होंने अपनी इस पारी के दौरान रवींद्र जडेजा के साथ शतकीय साझेदारी भी की। ऋषभ पंत अब दुनिया के दूसरे ऐसे मेहमान विकेटकीपर बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों देशों में टेस्ट शतक बनाए हैं। उनके अलावा सिर्फ वेस्टइंडीज के डू जॉन ऐसा कर सके हैं। डू जॉन ने १९८४ में दोनों देशों में शतक बनाए थे। ऋषभ पंत ने पिछले साल सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट (लंदन) में ११४ रन की पारी खेली थी। 

ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहले टेस्ट से ही बेहतरीन फॉर्म में हैं। उन्होंने हर मैच में अच्छी शुरुआत की। हालांकि वे इस शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पा रहे थे। सिडनी में सीरीज का अंतिम टेस्ट खेला जा रहा है और पंत के लिए ऑस्ट्रेलिया में बड़ी पारी खेलने का यह आखिरी मौका था। उन्होंने इस मौके को ज़ाया नहीं होने नहीं दिया और मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को ही शतक जमा दिया। 

ऋषभ पंत शुक्रवार को हनुमा विहारी के आउट होने के बाद क्रीज पर आए। उन्होंने आते ही बेहतरीन शॉट खेले और लंच-ब्रेक के थोड़ी ही देर बाद ८५ गेंदों पर ५० रन पूरे किए। पंत यहीं नहीं रुके और दूसरे छोर पर चेतेश्वर पुजारा के आउट होने के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर दबाव बनाए रखा। उन्होंने टी-ब्रेक के बाद जल्दी ही अपना शतक पूरा कर लिया। उन्होंने अपना शतक १३७वीं गेंद पर पूरा किया। 

ऋषभ पंत इस सीरीज में ३०० से अधिक रन बना चुके हैं। इसके अलावा वे २० कैच भी लपक चुके हैं। इस तरह वे भारत के ऐसे पहले विकेटकीर बन गए हैं, जिन्होंने एशिया के बाहर २०० से अधिक रन और २० से अधिक कैच लपके हैं। 

साल 2018 में तीनों खान रहे फ्लॉप - उम्मीद 2019 से... (आगे पढ़े)

सीनियर ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन सुबह फिटनेस टेस्ट में नाकाम रहे और मैच से बाहर हो गए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से गेंदबाजी की शुरुआत मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड की जोड़ी ने की। 

मेलबर्न टेस्ट से बाहर रहने के बाद वापसी कर रहे लोकेश राहुल एक बार फिर नाकाम रहे और दूसरे ओवर में ही हेजलवुड की गेंद पर पहली स्लिप में शॉन मार्श को कैच दे बैठे। मयंक अग्रवाल शतक की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन ३४वें ओवर में लियोन की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग ऑफ पर स्टार्क को कैच दे बैठे। अग्रवाल इस गैरजरूरी शॉट को खेलने के बाद काफी निराश दिखे। उन्होंने ११२ गेंद का सामना करते हुए सात चौके और दो छक्के मारे। चेतेश्वर पुजारा को टीम इंडिया में ‘द वॉल’ राहुल द्रविड़ का वारिस माना जाता रहा है। पुजारा ने अपने नौ साल के करियर में बार-बार साबित किया है कि जब विकेट पर टिक कर खेलने की बात हो, तो मौजूदा दौर में उनसे बेहतर और कोई खिलाड़ी नहीं है। हालांकि, इसके बावजूद वे दो बार नर्वस नाइंटीज के शिकार हो चुके हैं। यह संयोग ही है कि दोनों ही बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही ऐसा हुआ है। वे पहली बार 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरू में ९२ रन बनाकर आउट हुए थे और दूसरी बार सिडनी में ऐसा हुआ। 

दरअसल, लॉयन ने उन्हें ऑफ स्टंप के बाहर फ्लाइटेड गेंद फेंकी। पुजारा आगे निकलकर इसे मिडऑन में खेलना चाहते थे, लेकिन वे फ्लाइट से गच्चा खा गए और उनका शॉट सीधे गेंदबाज के हाथों में चला गया। 

चेतेश्वर पुजारा ने सिडनी में खेले जा रहे चौथे टेस्ट के दूसरे दिन १९३ रन की पारी खेली। यह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका पांचवां शतक है। 

                                                                               -विभा चौधरी