Live Tv

Thursday ,21 Mar 2019

मयंक अग्रवाल को पहले ही टेस्ट मैच में लगी गर्दन पर चोट, मैच रोमांचक स्थिति में

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Dec 29-2018 10:39:57am

मेलबर्न में चल रहा तीसरा टेस्ट मैच रोमांचक मोड़ पकड़ रहा है। टीम इंडिया ने पहली पारी में तो ४४३ रन बना लिए थे लेकिन उसके बाद की किसी भी पारी में भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमें २५० रन का स्कोर भी पार नहीं कर पायी है। सीरीज के पिछले दोनों मैचों में भारत और ऑस्ट्रेलिया १-१ से बराबरी पर हैं। 

आपको बता दें कि इस मैच में अपनी शानदार गेंदबाज़ी के चलते भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह छाए हुए हैं। मेलबर्न टेस्ट में जसप्रीत बुमराह ने अपनी घातक गेंदबाजी का नमूना पेश किया है। जसप्रीत बुमराह ने जहाँ ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में १५.५ ओवर की गेंदबाजी की और उन्होंने मात्र ३३ रन देकर कुल ६ विकेट भारतीय टीम के लिए हासिल किये। वहीं दूसरी और ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ भी पीछे नहीं रहे। इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए पैट कमिंस ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए केवल २७ रन देकर ६ विकेट झटक लिए। 

अपनी दूसरी पारी खेलने अति आत्मविश्वास के साथ उतरी भारतीय टीम ने ३२ के स्कोर पर ही अपने चार विकेट गंवा दिए और दिन के खेल का अंत ५ विकेट खोकर ५४ रन के स्कोर से किया। बावजूद इसके टीम इंडिया की स्थिति मजबूत ही रही और उसके पास बढ़त ३४६ रनों की हो गई। 

सूखी खांसी से हैं परेशान तो शहद, अदरक और मुलेठी आएंगे आपके काम.... (आगे पढ़े)

अपने करियर का पहला टेस्ट मैच खेल रहे २७ साल के मयंक अग्रवाल ने दोनों ही पारियों में भारत को अच्छी शुरुआत दी। हालांकि मयंक अग्रवाल ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए घोषित शुरुआती टीम में शामिल नहीं थे। उन्हें पृथ्वी शॉ की चोट के कारण टीम इंडिया में शामिल किया गया। मयंक को इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ भी टीम इंडिया में शामिल किया गया था, लेकिन तब उन्हें प्लेइंग-११ में जगह नहीं मिली थी। इस बार पहले दोनों टेस्ट में भारत के ओपनर मुरली विजय और केएल राहुल अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए. इसका फायदा मयंक को मिला और उन्हें ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के एक हफ्ते के भीतर ही प्लेइंग-११ में भी जगह मिल गई। 

एक तरफ जहाँ मयंक अग्रवाल के लिए यह टेस्ट मैच एक तोहफे के रूप में उनकी झोली में गिरा था तो वहीं उन्हें गर्दन पर चोट भी लगी। जिससे वो अपनी आँखे खोलने में भी असमर्थ दिखे। जब मयंक अग्रवाल शॉर्ट-लेग पर फील्डिंग कर रहे थे तो ओवर के दूसरी ही गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने स्वीप शॉट खेला। गेंद बल्ले के बीचोंबीच लगी और मयंक अग्रवाल जब तक इससे बचने के लिए घूमते, तब तक वह उनके गर्दन से टकरा चुकी थी। 

मयंक अग्रवाल ने इससे पहले मैच में तीन कैच लपके। यह संयोग ही है कि मयंक ने पहली पारी में उस्मान ख्वाजा का कैच ठीक उसी जगह और उसी गेंदबाज की गेंद पर पर लपका था, जहां पर उन्हें दूसरी पारी में चोट लगी। मयंक ने इसके अलावा एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस के भी कैच लपके।  

खबर के लिखे जाने तक ऑस्ट्रेलिया ने ७ विकेट के नुकसान पर २०८ रन बनाये। टीम इंडिया अभी भी १९१ रन से आगे है।