Live Tv

Monday ,17 Dec 2018

अंक ज्योतिष का क्या पड़ता है आपके जीवन पर प्रभाव, आईये जानते हैं

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Dec 07-2018 09:56:55am

आचार्य लंकेश: जिस तरह ज्योतिष का अपना महत्व है, उसी तरह अंको का भी अपना महत्व है। अंक हमारे जीवन में विशेष महत्व रखते हैं। प्रत्येक का अंक का अपना अलग महत्व है। अंकशास्त्र के अनुसार आपको कौन सा व्यवसाय शुभ रहेगा । मूलांक एक से नौ तक माने गए हैं । अंकों के हिसाब से कुछ व्यवसाय दिये गये हैं। 


अंक 01 - अंक एक सूर्य का प्रतिनिधित्व करता है। अगर आपका मूलांक एक है, तो आप निम्न व्यवसाय चुन सकते हैं, यह आपके लिए बेहतर साबित होगा सोना, मोती, अनाज, ऊॅन, एंव दवाॅईयों आदि का व्यवसाय आपके लिए उचित रहेगा।

अंक 02 - मूल अंक दो के जातक को चन्द्रमा से संबधित क्षेत्र में सफलता मिलती है। इस अंक का स्वामी चन्द्रमा है। मूंलाक दो वाले जातकों को जनरल स्टोर, रेडीमेड कपडो, कृषि, रत्न, खिलौनो आदि का व्यापार करना चाहिए। 
 
अंक 03 - मूंलाक तीन के जातको का स्वामी बृहस्पति यानी गुरू होंता है। तीन अंक वाले जातको को लेखन, अध्यापन, स्टेशनरी, पूजा-पाठ, नौकरी कोचिंग, आदि क्षेत्र में प्रयास करना चाहिए। 

अंक 04 - मूंलाक चार का स्वामी राहू है। राहु का प्रतिनिधित्व होने से ऐसे जातको को तकनीकी कार्यो में, रेलवे, वायुवान सामाग्री, पुरातत्व, ज्योतिष, शेयर्स आदि क्षेत्र मूल अंक चार वाले जातको के लिए अच्छे होते हैं।

अंक 05 - मूंलाक पाॅच वाले जातको को आयुर्वेद, ज्योतिष, कम्प्यूटर पार्टस, वकालात, फर्नीचर के कार्य, आदि में किस्मत आजमानी चाहिए।

अंक 06 - मूंलाक छ का स्वामी शुक्र है। इसलिए इस अंक के जातक को किराना व्यापार, बेकरी, मिठाइयों आदि का व्यवसाय करना चाहिए।

अंक 07 - मूलांक सात केतु का प्रतिनिधित्व वाला क्षेत्र है। इसलिए इस अंक के जातकों को इन क्षेत्रो में व्यवसाय करना चाहिए। ट्रेवल एजेंसी, अनुसंधान, दवा, सोना आदि।

अंक 08 - मूलांक आठ वाले जातक शनि ग्रह से प्रभावित होते है। इसलिए इन जातको को शनि प्रभाव से लोहे का व्यापार, तेल, तिल, ऊन का व्यापार, नौकरी (शारीरिक श्रम वाले) आदि क्षेत्र श्रेष्ठ रहेगा। 

अंक 09 - मूलांक नौ वाले जातको को मंगल से प्रभावित क्षेत्र में कैरियर तलाशने में चाहिए। इस अंक के जातको को सेना, पुलिस, खेल, कोयले एंव धातुओं का व्यापार करना चाहिए।