Live Tv

Sunday ,16 Dec 2018

सिग्नेचर के बाद भी दिल्ली में जाम की मुसीबत

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Nov 05-2018 12:32:55pm

दिल्ली: प्रदुषण और धुएं के बीच दिल्ली वासियो के लिए सिग्नेचर ब्रिज सोमवार से खुल गया. जंहा एक तरफ लोगो को प्रदुषण और धुएं से साँस लेने में दिक्कत हो रही , वही दूसरी तरफ क्रेडिट को लेकर दिल्ली में सियासत छिड़ी है. रविवार को हर ब्रिज के उद्घाटन के दौरान आप के विधायक अमानतुल्लाह खान और दिल्ली के बीजेपी अध्यछ मनोज तिवारी के बीच झड़प हो गई. सोशल मीडिया पर वायरल विडिओ वायरल हो रहे विडिओ में साफ देखा जा सकता है की मानतुल्लाह ने मनोज तिवारी को धक्का दिया. वही इन सब ड्रामे के बीच ब्रिज का उद्घाटन तो हो गया. लेकिन इसके बावजूद भी दिल्ली को अपनी पुरानी समस्या का हल नहीं निकलता दिख रहा. पहले भी जाम से लोग परेशान थे अब भी लोगो को वही प्रॉब्लम है. 

 

सिग्नेचर ब्रिज तो लोगो के लिए खुल गया ,परन्तु अब यहाँ पर नई मुसीबत सामने आ रही. नए ब्रिज को देखने के लिए लोग आ रहे हैं और बीच ब्रिज पर भी खड़े होकर सेल्फियां क्लिक कर रहे हैं. इससे कई दफा पुल पर जाम की स्थिति भी बन रही है. ब्रिज को इसलिए बनाया गया है कि वहां पर जाम ना लग सके, लेकिन लोग ब्रिज पर ही गाड़ियां रोक कर सेल्फियां क्लिक कर रहे हैं. बीजेपी और आप में तो ब्रिज के बनवाने के लिए क्रेडिट वार तो रविवार को हो गया. लेकिन क्या दोनों पार्टिया सिर्फ अपने लिए यह क्रेडिट लेना चाहती थी. यह इसलिए बोलना वाजिफ लग रहा की क्योकि ब्रिज तो सरकार ने बनवा दिया लेकिन जाम तो अभी भी ढीली की सबसे बड़ी प्रॉब्लम बनी हुई है. 

 

वही बता दें कि सिग्नेचर ब्रिज  का उद्घाटन रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने किया. इस दौरान मनोज तिवारी बिना किसी निमंत्रण के वहां पर पहुंचे, तभी अमानतुल्लाह खान का एक वीडियो सामने आया. जिसमें वह तिवारी को स्टेज से धक्का देते हुए दिखाई दे रहे हैं. गौरतलब है कि धक्का-मुक्की की इस घटना के बाद बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को दाऊद का गुर्गा बताया है. साथ ही मामले में आप विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की बात कही है.जिसका जवाब देते हुए आप के विधायक ने कहा की, वह स्टेज पर चढ़ने की कोशिश कर रहे थे, तो मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की ना कि धक्का दिया. वह जिस तरह से वहां पर बर्ताव कर रहे थे, अगर स्टेज पर आते तो मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के साथ बुरा बर्ताव करते. वही उन्होंने बताया कि मनोज तिवारी को तो वहां पर बुलाया भी नहीं गया था, फिर भी वह अपने समर्थकों के साथ पहुंचे. उनके समर्थकों ने हमारे पोस्टर, होर्डिंग्स फाड़ दिए और काले झंडे भी दिखाए. आप विधायक बोले कि मनोज तिवारी अपने समर्थकों के साथ स्टेज की तरफ बढ़ रहे थे, लेकिन दिल्ली पुलिस ने उन्हें नहीं रोका.